UPI से पेमेंट में ऑनलाइन फ्रॉड का खतरा - ऐसे करें बचाव (Beware of Online UPI Frauds)

In India, the use of UPI payments has risen to an unprecedented level due to the COVID pandemic & this rise in online payments has simplified many lives. However, it has also created several threats & UPI frauds in the market & it is necessary to understand these threats and the ways to avoid them.

By Anil Diggiwal Jul 1 2021 2:29PM 2857 Read
UPI भुगतान के नाम पर फ्रॉड / UPI Frauds & How to Avoid It

कोरोना महामारी के चलते हर कोई अपनी सुरक्षा और सामाजिक दुरी बनाए रखने के लिए अब ज़्यादा सतर्क हो गए है| ऐसे में ऑनलाइन और कैशलेस भुगतान बढ़ गए है| हर कोई थर्ड पार्टी पेमेंट जैसे की गूगल पे, फ़ोन पे, पेटिम जैसे applications का ज़्यादा इस्तेमाल करने लगे है| जहाँ इन apps ने पैसों की लेन देन की सहूलियत बढ़ा दी है वही दूसरी ओर UPI Frauds भुगतान के नाम पर फ्रॉड भी बोहत बढ़ गया है|

डिजिटल UPI पेमेंट उपयोगिता \ Use of UPI Payments

Digital Wallet platform और गूगल पे जैसे ऑनलाइन भुगतान system ने हमारे जीवन को वास्तव में आसान बना दिया है। गूगल पे की मदद से भुगतान करना आसान है। गूगल पे के जरिए आप बहुत सारे काम कर सकते हैं जैसे:

  • एक बैंक खाते से दूसरे बैंक खाते में पैसे ट्रांसफर करना,
  • उपयोगिता बिलों का भुगतान करना,
  • फोन रिचार्ज करना,
  • टिकट बुक करना,
  • व्यापारियों को भुगतान करना,
  • ऑनलाइन खरीदारी करना

डिजिटल भुगतान बहुत उपयोगी हैं लेकिन उनमें जोखिम और कमजोरियां भी बोहत हैं। इसलिए कोई भी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करते समय सावधानी बरतना बहुत जरूरी है।

UPI भुगतान फ्रॉड – UPI Fraud Real Case Study

ऐसा ही एक केस दिल्ली में रहने वाली शिखा के साथ हुआ। शिखा की हाल ही में एक बड़ी MNC कंपनी में जॉब लगी थी| कोरोना काल में भी जॉब मिल जाना वो भी इतनी बड़ी कंपनी में यह उसके लिए बोहत ख़ुशी की बात थी| लेकिन खुश होने की जगह शिखा डरी हुई और मायूस थी। आइए जानते है शिखा के साथ क्या हुआ।

नई जॉब लगने की ख़ुशी में उसने एक नया लैपटॉप ख़रीदा लेकिन उसका पुराना लैपटॉप भी ठीक ठाक हालत में ही था| उसने सोचा दो दो लैपटॉप का क्या करेगी तो अपना पुराना लैपटॉप उसने OLX पर बेचने का फैसला लिया| उसने अपने लैपटॉप की फोटो और बाकि सारी जानकारी डालकर OLX पर अपना लैपटॉप बेचने के लिए लिस्ट कर दिया| उसने अपने लैपटॉप बेचने का ऐड सोशल मीडिया पर भी डाला| फेसबुक पर उस ऐड को देख कर एक व्यक्ति ने उसे संपर्क किया|

उसने कहाँ की वो लैपटॉप खरीदने में interested है और डील फाइनल करने के लिए वो 50% एडवांस देने को भी तैयार था| शिखा खुश हो गई और बिना किसी जांच पड़ताल के उसने हाँ कर दी| उस व्यक्ति ने शिखा की UPI आईडी मांगी ताकि वो उसे ऑनलाइन पेमेंट ट्रांसफर कर सके| शिखा ने अपनी गूगल पे की आईडी देदी कुछ मिनट में ही उसके पास एक payment request आई और शिखा ने बिना सोचे समझे जल्दबाजी में request पर क्लिक कर दिया| नतीजा यह हुआ की शिखा के अकाउंट में पैसे आने की बजाय 15000 रूपए कट गए| इस से पहले की शिखा कुछ कर पाती या समझ पाती वो 15000 रूपए से हाथ धो बैठी थी|

शिखा की गलती / Shikha’s UPI Fraud Mistake

शिखा की गलती केवल इतनी थी की वो सतर्क नहीं थी| Request पर क्लिक करने से पहले उसने देखा नहीं की वो क्या कर रही है| और केवल शिखा के साथ ऐसा नहीं हुआ है| UPI ट्रांसेक्शन के नाम पर ऐसे बोहत से फ्रॉड हो चुके है| कुछ लोग जो पढ़े लिखे थे या जिनको ऐसे मामलो के बारे में थोड़ी बोहत खबर थी उन्होंने तो पुलिस में और बैंक में शिकायत करके अपने पैसे वापस वसूल लिए| लेकिन दिक्कत उन लोगों को आती है जिन्हे ऐसे फ्रॉड के बारे में कुछ पता नहीं होता है या जिन्हे अधूरी जानकारी होती है| शिखा भी ऐसे ही एक फ्रॉड का शिकार हो गई थी और 15000 रूपए खोने का गम मना रही थी|

UPI ट्रांसेक्शन ब्लॉक सुविधा / UPI Payment Block Service

शिखा जैसे और भी बोहत से लोग ऐसे फ्रॉड का शिकार हुए है और ऐसे फ्रॉड के बारे में आम जनता को सचेत करना जरुरी है| ऐसे फ्रॉड से कैसे बचा जाये इसकी जानकारी देना जरुरी है| ऑनलाइन फ्रॉड और खासकर UPI ट्रांसेक्शन की धोखाधड़ी बोहत बढ़ गई है विशेष रूप से महामारी के दौरान| इस तरह की धोखाधड़ी से बचने के लिए, काफी UPI platforms block की सुविधा प्रदान करते है, अगर आपको कोई payment request भेजता है, जिसको आप नहीं जानते तो उनको आप तुरंत ब्लॉक कर सकते है और ऐसी धोखाधड़ी से बच सकते है।

अनचाहे भुगतान ब्लॉक करे / How to Block Unwanted UPI Payment?

Android और iOS दोनों ही यूजर्स के लिए यह सुविधा उपलब्ध है। क्योकि शिखा के साथ यह फ्रॉड गूगल पे पर हुआ था तो इस ब्लॉग में मैं गूगल पे पर किसी को ब्लॉक करने के लिए कुछ सरल स्टेप्स बता रही हूँ|

  • गूगल पे पर किसी को ब्लॉक करने के लिए सबसे पहले आपको अपना गूगल पे अकाउंट खोलना होगा।
  • ऐप खोलने के बाद, आप उन संपर्कों को देखने में सक्षम होते हैं जिनको आपने पैसे भेजे हैं या प्राप्त किए हैं। आपको उन contacts को भी देखने को मिलेगा जिन्होंने आपको पेमेंट रेक़ुएस्ट भेजी है।
  • इन contacts में से आपको उस contact को चुनना होगा, जिस पर टैप करके आप ब्लॉक करना चाहते हैं।
  • यदि आप जिस नंबर को ब्लॉक करना चाहते हैं, वह आपके contact में सेव है, तो आपको स्क्रीन के ऊपर दाईं ओर तीन डॉट्स पर क्लिक करना होगा और ब्लॉक विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अगर आपके contacts में फोन नंबर सेव नहीं है तो contact पर टैप करते ही आपको ब्लॉक का ऑप्शन दिखाई देगा। आपको संपर्क को स्पैम के रूप में रिपोर्ट करने की भी अनुमति होगी।
  • एक बार जब आप किसी को गूगल पे पर ब्लॉक कर देते हैं, तो उन्हें अन्य गूगल उत्पादों जैसे फ़ोटो और हैंगऑउट पर भी ब्लॉक कर दिया जाता है।

UPI भुगतान फ्रॉड से कैसे बचे / Ways to Avoid BHIM UPI Frauds

  • किसी भी payment request को accept करने से पहले यह निश्चित कर ले की आप उस व्यक्ति को जानते है या नहीं|
  • किसी भी बटन पर क्लिक करने से पहले यह सुनिश्चित कर ले की पैसे लेने की जगह कही आप request करने वाले को पैसे दे तो नहीं रहे है|
  • कोई भी बैंक, UPI प्लेटफार्म या अन्य payment gateway आपसे कॉल या मैसेज के जरिए आपसे आपकी अकाउंट की डिटेल या OTP नहीं मांगते है| अगर आपके पास ऐसा कोई भी कॉल या मैसेज आए तो तुरंत उसकी जानकारी अपने बैंक और नजदीक के पुलिस स्टेशन या साइबर क्राइम में दे|
  • अगर दुर्भाग्यपूर्ण आपके साथ ऐसा कोई फ्रॉड हो चूका है तो तुरंत अपना अकाउंट ब्लॉक करे और इसकी सुचना अपने बैंक में दे और नजदीकी पुलिस स्टेशन में इसके खिलाफ 24 घंटों के अंदर अंदर फ्रॉड की रिपोर्ट दर्ज करवाए|

‘स्वच्छ सोशल मीडिया’ के साथ सतर्क रहे / Join Swach Social Media

अगर आपके साथ भी ऐसा कोई हादसा हुआ है और आप इसकी शिकायत दर्ज करना चाहते है तो टेलीग्राम पर "स्वच्छ सोशल मीडिया" के नाम से एक समूह से जुड़ सकते है| इस ग्रुप में कोई भी जुड़ सकता है और किसी भी प्रकार के सामाजिक या साइबर अपराध के खिलाफ रिपोर्ट कर सकता है| स्वस्थ रहे| सतर्क रहे और ऑनलइन और साइबर क्राइम में होने वाले फ्रॉड के शिकार ना बने| ऑनलाइन फ्रॉड और साइबर क्राइम की खबरों को जानने के लिए डिजिटल युग से जुड़े रहे|

Anil Diggiwal
Anil Diggiwal View More Posts

Anil Diggiwal is the Chief Editor for DigitalYug. He is particularly interested in business, in addition to international, online tale, quirky, and regional movies. Active in journalism for about a decade and a half, as well as a successful entrepreneur
| | |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

enter How much is